Tuesday, October 18, 2011

सुन रहे हो........... तुम्हारे लिए ...................कहाँ हो......................??????

दोस्तों से बिछड़ कर यह हकीकत खुली ग़ालिब
बेशक कमीने थे मगर रौनक उन्ही से थी ...

No comments: