Thursday, November 10, 2011

चाणक्य
क्षमा व्यक्ति को निर्बल नहीं सबल बनाती है....जिसने तुम्हारा विश्वास तोडा हो, उस से बदला ना लेकर, उसे क्षमा कर देना....कोई साधारण व्यक्ति नहीं कर सकता..... और जो कर दे, उसकी आत्मा में एक नयी दृढता आ जाती है....यह व्यक्ति के साधारण से असाधारण बनने का चिन्ह है, की व्यक्ति अपने निजी आवेगों से ऊपर उठकर क्षमा जैसा बड़ा निर्णय ले....यह राजसी गुण है...और जिसे बड़ा बनना है, उसे क्षमा करना सीखना चाहिए...।

No comments: