Wednesday, November 23, 2011

घर की दीवार में
उग आये पीपल के मानिन्द है
तुम्हारी याद.........
तुम्हें पूजना भी है,
तुमसे बिछड़ना भी है।

No comments: