Wednesday, August 31, 2011

स्त्री की प्रतिभा का लोहा मानने को कोई तैयार नहीं

हाय रे वो दिन क्यों न आये फिल्म अनुराधा का अनमोल गीत आपके लिए ओर "तुम्हारे लिए" सिर्फ फिल्म ही नहीं इसमे एक स्त्री की कुर्बानी ओर समर्पण की कहानी है जो बहुधा पुरुष देख नहीं पाते ओर अपने को सफल करने में वो किस तरह से प्रतिभा का गला घोट देते है ओर एक जीती जागती स्त्री को खत्म कर देते है यह गीत इसका प्रमाण भी है.........अदभुत है यह कथा ओर संसार........बहुत दुखद ओर गंदा स्त्री की प्रतिभा का लोहा मानने को कोई तैयार नहीं .................

No comments: