Thursday, January 5, 2012

(जिंदगी के प्रवचन - अपनो से दुखी होकर......)

संसार आपको महान बनाए के लिए ही है, यहाँ जो भी आप करेंगे, वो सब महानता की उत्कृष्ट श्रेणी में आता है इसलिए यह महान बनने का चस्का सबको लगता है, जीवन के हर पल में आपके आसपास वाले आपको ऐसा कोई मौका नहीं देते कि आप महान ना बन् पाए.... वो आपको गाड़ी में, घोड़े पर, घर, बाहर, दूकान, मकान और हर जगह पर महान बनाने पर तुले रहते है, इसलिए अपने करीबी लोगो से बचो, उन सबसे बचो जो येन-केन प्रकारेण आपको सिर्फ और सिर्फ महान बनाकर छोडते है....और ये लोग भलीभांति जानते है कि आपके महान बनते ही ये वो सब सुख सुविधाएँ उठा लेंगे जिसकी इनको लंबे समय से दरकार है..... घोर कलजुग है-- बाबा, पापी बहुत बढ़ गए है और समय बडा खराब चल रहा है, इसलिए बचो ऐसे लोगो से जो सस्ती और घटिया दरों पर महान बनाने के नुस्खे खीसे में लेकर चल रहे है, और गाहे- बगाहे हर किसी को एकदम महान बना डालते है....बचो.....बचो......बचो इनसे बचो......
(जिंदगी के प्रवचन - अपनो से दुखी होकर......)

No comments: