Friday, January 20, 2012

राख हुए सपने


'गुलाबी' के
सपने तो बहुत थे
उन्हें तोड़ने वाले
कहाँ कम थे ?

रंगीन चूड़ियों
का सपना
सहृदय बालम
का सपना

सबको अपना
बनाने का सपना

जलाई जाएगी
उसे केरोसिन डालकर
नही था
ये सपना गुलाबी का
पर ........................
राख हुए सब सपने
गुलाबी के साथ
Nityanand Gayen

No comments: