Wednesday, September 21, 2011

अगर तुम मुझे चाहते हो

जिसे हम पीड़ा कह्ते हैं, उसका जीने या मरने से कोई सम्बन्ध नहीं है. उसका धागा प्रेम से जुड़ा होता है, वह खिंचता है तो दर्द की लहर उठती है, 'अगर तुम मुझे चाहते हो', उसने कहा था. मुझे लगता है, उसका विश्वास ईश्वर में नहीं, मुझमें था और मैंने उसे धोखा दिया...
- निर्मल वर्मा

No comments: