Monday, September 26, 2011



तुम्हारे लिए सुन रहे हो.....................कहाँ हो................???

तुम इतने सीधे लगे,जितने सीधे बांस..
रोम-रोम में फांस है और जोड़-जोड़ में गांठ......

No comments: