Monday, September 26, 2011

कहने वालों का कुछ नहीं जाता सहने वाले कमाल करते हैं
कौन ढूंढे जवाब ज़ख्मों के लोग तो बस सवाल करते हैं!

-गुलज़ार साब

No comments: