Monday, December 26, 2011



‎'' जब तक इस धरती पर आदमी जीवित रहेगा, ईश्वर कभी यहां आने का जोखिम नहीं उठाएगा. ''

[ निर्मल वर्मा, अपनी डायरी में ]

No comments: