Thursday, April 14, 2011

एनजीओ पुराण भाग ४३

वो लड़ता रहा जिंदगी भर और आखिर में राज्य ने उसे निपटा दिया अब तो इस राज्य में कोइ भी दूकान खोलने की हिम्मत नहीं करता, हालांकि वो अब भी आदर्श तो है पर ये सब दूकान वाले सामने बोलने में उसका नाम भी लेने में कतराते है जैसे यदि नाम ले लिया तो वो भी निपट जायेंगे और बस फिर दूकान बंद दाना पानी बंद! सो सतर्क रहो और सत्ता के दल्ले बने रहो यही मूलमंत्र सीखा है इन सबने इस घटना सें(एनजीओ पुराण भाग ४३ समाप्त)

No comments: