Thursday, April 14, 2011

एनजीओ पुराण भाग ४०

प्रदेश के इस उन्नत इलाके में उसकी चार दुकाने थी चारों के पास लायसेंस थे और देश विदेश का पैसा वो जमके लेता था, हां ये बात और थी की उसकी इमेज दुकानदारों के बीच बड़ी खराब थी, क्योकि वो काम के नाम पर मक्कारी करता था और शोषण भी करता था, एक बार पानी रोकने के ठेके में एक पुलिस वाले अधिकारी के चक्कर में आ गया, दूकान और अपनी इज्जत मुश्किल से बचाकर भागा और आज तक भाग रहा है जय हो समाज सेवको की (एनजीओ पुराण भाग ४०)

No comments: