Friday, April 15, 2011

एनजीओ पुराण भाग ४५

जिंदगी भर वो बिहार के पिछड़े इलाके में नक्सलियों के साथ काम करता रहा फिर एक दिन उसकी जिंदगी में कुछ ऐसा घटा कि वो सब छोड़ कर संसार में लौट आया, अपने घर और ग्रिश्तेदारो के लिए कुछ करने की ठान ली बस यही से संसार का मोह त्याग नहीं पाए जबकि जानता था कि माया महाठगिनी पर कहा टिक पाता है कोइ माया के सामनेआजकल माया के चक्कर में देश परदेश सब चलता है और माँ लक्ष्मी की असीम कृपा है(एनजीओ पुराण भाग ४५ समाप्त )

No comments: