Sunday, October 7, 2012

भारत हमको जान से प्यारा है, सबसे प्यारा गुलिस्ता हमारा है.......

भारत हमको जान से प्यारा है, सबसे प्यारा गुलिस्ता हमारा है.......

अरविंद ने बिजली के बिल फाड़े, पचास हजार लोग दिल्ली के ओर कूच कर रहे है दो गज जमीन के लिए, राबर्ट वाड्रा घपले में शामिल, अन्ना का आंदोलन फेल, गैस के भाव बढे, एफ डी आई का प्रवेश, सारे नेता और सरकार भी सरकार से नाखुश, कोयला घपला, छोटी बेटियों के साथ लगातार बलात्कार और हत्याएं, कुपोषण से छोटे बच्चों की मौतें, सद्य प्रसूताओं की मौतें, युवाओं में देश के प्रति विरोध लगातार आक्रोश बढ़ रहा, इरोम शर्मिला का ग्यारह बरसों से लगातार अनशन जारी, सरकार में लोग और मंत्री गण अपने इलाज के लिए लगातार विदेश दौरों पर, रिटायर्ड राष्ट्रपति पर उपहार में मिले उपहारों पर वापसी के लिए आदेश जारी, आरुशी हत्याकांड के अपराधी अभी भी बेखौफ घूम रहे है, सरकारों के मंत्री कई कई प्रकार के कांडों में लिप्त, खाप पंचायतों का कहर जारी, देश में पुलिस नमक व्यवस्था ध्वस्त, सेना के अधिकारी भी भयानक किस्म के षडयंत्रों में शामिल, फिल्मों का सुनहरा दौर, सोशल मीडिया पर लेखकों की भीड़, प्रधानमंत्री चुप, राष्ट्रपति चुप, राज्यपाल चुप, लोकसभा ठप्प, राज्यसभा ठप्प, विधानसभाओं में जूते - चप्पल, पंचायतों में ग्राम सभाओं की नौटंकी और घोर हिंसा, प्रशासन नपुंसक और धन बटोरने में बेहद व्यस्त......

आईये हाथ उठाये हम भी, हम जिन्हें रस्में दुआ याद नहीं,
हम जिन्हें सोज़े मुहब्बत के सिवा कोई बुत कोई खुदा याद नहीं.

No comments: