Wednesday, November 7, 2012

हम सबके दूलारे और प्यारे कसाब भैया- कांग्रेस और भाजपा के बीच सही का सेतु

 
कोई बताएगा कि हम सबके दूलारे और प्यारे कसाब भैया कैसे है.........मै थोड़ा कन्फ्यूज हो गया कसाब भिया लिखूं या कँवर साहब या जमाई राजा या कुछ और............


मुझे तों लगता है कि देश को इस समय एक तटस्थ और पंथ निरपेक्ष आदमी की जरुरत है जो कांग्रेस और भाजपा दोनों के बीच सही और लक्ष्य आधारित सेतु का काम कर पाए, और सबक्को समां दृष्टि से देखे........ तों क्यों ना ये काम अपने ही देश के रूपयों -पैसों पर पले और तंदुरुस्त हुए कसाब भैया को इतना महत्वपूर्ण दायित्व दे दिया जाये.........और सबसे बढ़िया है कि अन्ना, अरविंद, वी के सिंह, या बहन मायावती, मुलायम, अमर सिंह, राम जेठमलानी या ऐसे किसी भी पार्टी या नेता को आपत्ति नहीं होगी, यहाँ तक कि मीडिया को भी नहीं होगी. और तों और पाक से रिश्ते सुधरेंगे, अमेरिका से सम्बन्ध प्रगाढ़ होंगे और बाकी पूरी दुनिया के सामने एक बढ़िया वाले बोले तों झकास वाली छबि उभरेगी..हमारी... सई है कि नही भाई लोगों और बहन लोगों......??? और फ़िर चीन भी डर जाएगा........क्यों भिया .......


देखो एकदम कूटनीतिक सुझाव एकदम मुफ्त में दे रहा हूँ फ़िर मत कहना कि देश हित में मैंने कुछ किया नहीं.........खैर मै तों हर पल हर बखत "कसाब भिया" के लिए दुआएं करता रहता हूँ क्योकि जब तक वो सुरक्षित है हम सब महफूज है............

No comments: