Thursday, August 2, 2012

मेरी इबादतों को ऐसे कर क़ुबूल ऐ मेरे ख़ुदा, . .

कि सज़दे में मैं झुकूं,

तो मुझसे जुडे हर रिश्तें की ज़िन्दगी सँवर जाए ..!!

No comments: