Friday, April 13, 2012

रविवार 15/4/2012 को समावर्तन का लोकार्पण

कल से दो दिन देवास में हूँ.

रविवार 15/4/2012 को समावर्तन का लोकार्पण है शाम ५.३० बजे मल्हार स्मृति मंदिर में. समावर्तन पत्रिका का यह अंक स्व नईम पर और कलापिनी के संगीत में योगदान पर केन्द्रीत है. यह माह नईम जी और कुमार जी का माह है देवासवासी इस माह को बहुत अच्छे से जानते है. इस कार्यक्रम में समावर्तन के साथी ड़ा प्रभात भट्टाचार्यजी, प्रमोद द्विवेदी, श्रीराम दवे, सुल्ताना नईम, पदमश्री वसुंधरा कोमकली, सुश्री कलापिनी मंच पर रहेंगी. साथ ही दीपक गरुड़, और राजशेखर त्रिवेदी कलापिनी के संगीत में योगदान पर अपना मत रखेंगे. कलापिनी "युवा संगीतकारों के सामने चुनौतिया" विषय पर एक प्रेरक उदबोधन देंगी. इसी क्रम में जीतेंद्र चौहान इंदौर के कवि अपनी कविताओ का पाठ करेंगे और प्रदीप मिश्र जीतेंद्र की कविता एवं आज की सामयिक हिन्दी कविता विषय पर आधार वक्तव्य देंगे. कार्यक्रम स्थानीय ओटला के साथी बहादूर पटेल, मनीष वैद्य, दिनेश पटेल, श्रीकांत उपाध्याय, ड़ा सुनील चतुर्वेदी, प्रकाश कान्त, जीवन सिंह ठाकुर, विक्रम सिंह आदि आयोजित कर रहे है, साथ ही यह खाकसार (संदीप नाईक) तो रहेगा ही सदा की तरह और फ़िर ढेर सारी तस्वीरों के साथ और एक छोटे से रिपोर्ताज के साथ उपस्थित होगा..............इसी दीवार पर जो अभेद्य है और अजेय.........

इस सादगीपूर्ण, नितांत पारिवारिक और अपनत्व के कार्यक्रम में यदि आप इस तरफ है तो अवश्य आये और हमें चमत्कृत और उपकृत करे.
आपके अपने ओटला के साथी

No comments: