Sunday, November 8, 2015

Posts of 7 Nov 15


दिल से चाहता हूँ कि बिहार में आज भाजपा की सरकार बन जाए ताकि सारे असली रंग और चरित्र पूरी दुनिया के सामने आ सके और फिर देखे 56 इंच सीने का जोर कि कैसे बदलते है बिहार को


आमात्य सो जाओ, यह रात सबके जीवन में आती है और तुम्हे तो अब ज्यादा सावधान रहने की जरुरत है जोशी जी भी सुना है सुषमा जी के यहाँ से आज फटाके लेकर आये है........
बेहतर है परसों किसी देश में चले जाओ और संडास के लिए रुपया मांगो........तुम्हारी जगह और बखत संडास में ही है..........अमित जी गुजरात चले जायेंगे......................
महामात्य आडवानी


कल के लिए क्या फटाके खरीदे या पटाखे...........आमात्य ?
गजब, कल वसु बारस भी है, देखे गाय दूध देती है या दुलत्ती ..


आईना मुझसे पहले सी मुहब्बत मांगे, मेरे अपने मेरे होने की निशानी मांगे.......
जूते खाकर अनुपम ने आज फिर यह गाना दोहराया और नशे में बडबड़ाने लगा भूल गया कि सारांश में अपने बेटे की अस्थियाँ लेने के लिए कितने पापड बेलना पड़े थे और यह वही ज्वार था जो फेनेटेसिज्म को जन्म देता है और अभी अनुपम और किरण खैर को इस प्रक्रिया से गुजरना है.
भक्त इस बात की ग्यारंटी दे रहे है कि वे उन्हें तनाव मुक्त अस्थियाँ हवाले कर देंगे........
अनुपम खैर मुर्दाबाद
भारतीय रेल में भिखारी, विकलांग, हिंजड़े और प्रतिबंधित सामग्री बेचने वाले ज्यादा नजर आते है बजाय यात्रियों के ।
जैसा देश वैसे लोग और वैसी ही व्यवस्थाएं।
कुल मिलाकर सुरेश प्रभु की जयजयकार और लालू से लेकर ममता तक पूर्ववर्ती मंत्रियों की अवैध संतानें।
और आप कहते है मोदी के अच्छे दिन । 
एक बड़ा थू !!!!

सांप और अनुपम खैर में सिर्फ एक ही अंतर् है, सांप छेड़ने पर काटता है और अनुपम चौबीसों घण्टे गिरगिट बना रहता हैं ।
घोर चापलूस और कलंक यानि अनुपम खैर जैसे ठंडा मतलब टॉयलेट क्लिनर !!!

No comments: