Sunday, November 15, 2015

Posts of 15 Nov 15



कुछ पढ़े लिखें गंवार जबरन मेरी वाल पर चले आते है और नैतिकता की बात करते है । जो व्यक्तिगत जिंदगी में ईमानदार नही अपनी नोकरी में बेईमानी करके यहां वहाँ लोगों को मूर्ख बनाकर और घटिया किस्म के व्यंग्य लिखकर नाम और यश कमाने के लिए चापलूसी और बिछने को तैयार हो जाते हो और सच बोलने पर और आईना दिखाने पर बदतमीजी पर उत्तर आते है। घटिया को घटिया कहने पर सहन नही होता और अंत में अन्फ्रेंड करके कायरों की तरह से भाग जाते है, ऐसे लोगों से सावधान रहिये। ये इंसानियत के भेष में मूर्ख और कलंक है। जो लोग अपने काम की जगह पर सिवाय मक्कारी के सिवा कुछ नही करते और हमेशा रूपये कमाने की हवस में लगे रहते है और बेहद मूर्खतापूर्ण रवैया लोगों के प्रति रखते है और भाषा के नाम पर कुछ नही आता ना हिंदी ना अँग्रेजी , ऐसे निरक्षर लोगों से दूर रहें। ये वही लोग है जो ऊपर से नैतिक और अंदर व्याभिचार से भरें है। ये समाजवादी होने की रोटी खाते है पर है सब भयानक कट्टरपंथी और घोर जातिवादी संकीर्ण मानसिकता के टुच्चे लोग जो समय आने पर आपके चरण धोकर पी लेंगे। 

बचिए इन नाकारा लोगों से

(मनोज लिमये के लिए) 

No comments: