Wednesday, June 24, 2015

Post of 24 June 15

सांसदों के भोजन के अधिकार पर यह गरीब मुल्क जिसके बच्चे भूख से मर जाते है, पर साठ करोड़ प्रतिवर्ष खर्च करता है.
शर्मनाक है या गर्वीला वक्तव्य




माननीय लोकसभा स्पीकर महोदया,
मोदी जी तो ज्यादा विदेश में रहते है और अमित शाह ही देश चला रहे है जैसे सोनिया जी चला रही थी, ये दीगर बात है कि मन मोहन जी देश में ही रहते थे. पर अब निम्न मामलों में आपसे कार्यवाही अपेक्षित है क्योकि आप अध्यक्ष है और नियम कायदे जानती है (?) चूँकि लोकसभा देश की सबसे बड़ी संस्था है जो सर्वमान्य और सम्मानीय है अतः देश हित में आपका निर्णय प्रशंसनीय होगा. आपने लोकसभा में लंबा समय गुजारा है और देश हित में कई काम किये है शायद, इंदौर की बात अलग है जहां लोगों ने आपको अंतिम बार मोदी लहर में मौका दिया था इस बार, अगर आप अब भी इंदौर के लिए कुछ ना कर पाई तो दीगर बात है पर देश के लिए तो कुछ कर दीजिये, आपके लिए यह आख़िरी कार्यकाल है, अतः अपेक्षा है कि लोक जीवन में आपके द्वारा स्थापित आदर्श आने वाली पीढ़ियों के लिए रोल मॉडल का काम करेंगे.
कृपया निम्न पर तुर्रंत कार्यवाही करें.
निहाल्चंद्र 
सुषमा स्वराज
स्मृति ईरानी 
पंकजा मुंडे
शिवराज सिंह चौहान 
अनेक सांसद जो गाहे बगाहे साम्प्रदायिक बयान देते है

इसके अलावा कल ही बनारस से लौटा हूँ, इलाहाबाद और बनारस में गंगा की हालत देखकर बहुत दुखी हुआ हूँ आपकी केबिनेट मंत्री सुश्री उमा भारती से अनुरोध करें कि जन भावनाओं को देखते हुए गंगा की सफाई का अभियान और अन्य प्रकल्प शीघ्र आरम्भ करें ताकि जन अपेक्षाओं जो प्रधान मंत्री द्वारा बनारस हिन्दू विवि के सुकोमल युवा छात्रों के मस्तिष्क से लेकर जन समुदाय में जगाई गयी थी, उन्हें कम से पूरा नहीं तो पच्चीस प्रतिशत ही अब शेष बचे कार्यकाल में पूरा किया जा सकें बजाय विदेश घूमने और अपने व्यर्थ के फेंकू भाषण देने के !!!
मेरे इन विचारों को देश हित में माना जाकर एक स्वस्थ रूप में आप लेंगी यह आप, आपके पार्टी के लोग और देश भर में फैले अंध भक्त और मीडिया में बैठे स्वस्थ मानसिकता वाले साथी और देश हित में सोचने वाले व्यक्ति लेंगे.
सादर 
देश भक्त हिन्दुस्तानी

No comments: