Sunday, March 27, 2011

एनजीओ पुराण भाग दस

वो देश के सबसे बड़े संस्थान में काम करता था, फिर उसने गांव जाने की सोची, शिक्षा में नवाचार की सोचे, अपने आय ए एस दोस्तों से संपर्क किया, विदेशी पत्नी से शादी की और फिर पिछड़े प्रदेश में नवाचार का बेहतरीन काम किया बस इसी काम के बल पर दिल्ली के विश्वविद्यालय में विभाग प्रमुख हो गया, फिर रिटायर्ड होकर कन्सल्टंट बन गया आजकल खूब लिखना पढाना और रुपया कमाना यही काम है, जय हो शिक्षा और नवाचार की. (इतिश्री एनजीओ पुराण भाग दस समाप्त)

No comments: