Thursday, March 24, 2011

एनजीओ पुराण भाग एक

एक आदमी था या है, उसने १५ साल तक ट्रेक्टर बेचा और फिर ना जाने क्या क्या नौकरिया की उसे हर जगह से निकाल दिया गया, आखिर उसे काम मिल गया और वो एक प्रतिष्ठित संस्था में काम करने लगा और प्रदेश भर का मुखिया बन गया. उस नौकरी का नाम था एनजीओ.आजकल वो ट्रेक्टर बेचने वाला आदमी शिक्षा, एड्स और व्यावसायिक शिक्षा का सिद्धहस्त खिलाड़ी है और ढेर सारा रुपया कमाता है. जैसे उसके दिन फिरे वैसे सबके दिन फिरे. इतिश्री एनजीओ पुराण भाग एक समाप्त

No comments: